जो तलाश थी 

जो तलाश थी वो तुम पर खत्म ।  अब भिर दिल तु क्यों खोया है । कोई वादा तो था नहीं साथ निभाने का । Advertisements

ज़िन्दगी का सार तुम्हें क्या बताएं​

कुछ भुलाकर​ कुछ याद कर के कुछ सिख कर कुछ बित कर । कुछ खबाव्वो को तोड़ कर । ज़िन्दगी का सार में तुम्हें और क्या बताऊं। अभी तो तय किया है । कुछ टुटेगा कुछ बिखरेंगा । लम्बी लाइन है जाजबतो । जहां तुम हो वही में हूं । सार तो यह है कि… Continue reading ज़िन्दगी का सार तुम्हें क्या बताएं​

Valentine,s day

यूं ही नहीं मिलता कोई अपना । इन गैरों की भीड़ में  बहुत मिन्नतों के बाद तू मिला है  इस दिल ए जागीर में । तेरे साथ का असर । यूं हुआ है मुझमें  तू ही तू हर तरफ हैं । मैं नहीं अब खुद में । तेरे होने का अहसास  मुझे मेरे न होने… Continue reading Valentine,s day

मे हार क्यू जाता हु ।

मै हार क्यू जाता हु । वक्त न कहा, धूप हो या छांव हों, काली रात हो या बरसात हो , चाहे कितने भी बुरे हालात हो,  मैं हर वक्त चलता रहता हूं, इसलिए मैं जित जाता हूं , तु भी मेरे साथ चल  कभी नहीं हारेगा , जो है वो छोड़ कर चल ।… Continue reading मे हार क्यू जाता हु ।

सुरू से सुरू करो

अब इंतजार किस का है । सुरू से सुरू करो । जहां से खत्म हुआ बहा से सुरू करो । जो था वो गया । जो हैं उसके लिए सुरू करो । जिसका डर था वो हो गया । जो हारना था वो भी हार चुके । उस हार से सुरू करो ।  अब सामने… Continue reading सुरू से सुरू करो

मायने 

कुछ हकिकत कहानियों में होती है । तो कुछ कहानियां हकीकत होती है।  ज़िन्दगी के भी मायने बहुत है। कुछ मायने हम जानते हैं । कुछ लोग सिखा​ जाते ।