वो 

वो अया तो जिन्दगी मे । एक सपने की तरहै । पर जिन्दगी  कि कइ । हकिकतो से वाकिभ । करा गया ओर गया । य  तय है अव हरुगी नही । वो हार कर जित दे  गया ।  अव मन्जिल पाना तय है । वो मन्जिल दिखा के गया । Advertisements

हम फिर मिलेगे 

यकीन है मुझ को हम किसी मोड पर फिर मिलेगे। तुम साथ न होकर  भी मेरे साथ रहे हो । आज भलेही रासते अलग हो गय हो । पर तेरा यदो का साय आकर उडा ले जाता है । सच वोलू हर दिन याद आए है तूम । इन सालो मे बातो हि बातौ मे… Continue reading हम फिर मिलेगे 

इंतजार है तेरा 

इंतजार  रहेगा तेरा ।। अगर रूह वन गया तो ।। तेरी रूह में मिल जायगे ।। अगर राख होगया तो।। रेते जो अगन में भूल लगा है ऊसके साथ हर रोज महकेंगे ।। पर इंतजार रहेगा तेरा ।। इन्तजार है तेरा।। की तुम आओगे । तुम्हें वदा तो याद होगा न।। इंतजार तो है तेरा… Continue reading इंतजार है तेरा 

हुनर 

अपने अंदर के गुसे को आग से नहीं । अपने हुनर से  बहर निकालो । *******   ********   ***** जो भी कुछ है आज है और अभी है। कल तो खुदा का भी नहीं है । ******  *******   ****** कभी कभी जिंदगी से बाड कर जज्बात हो जाते है  जिंदगी भलेहि छोटी हो… Continue reading हुनर 

शिकायत 

जब से जिंदगी से हाथ मिलाया है  तब से खुद से और खुदा से भी । शिकायत करना छोड़ दिया है ।

मन की गेहराईया 

अपने मन की गेहराईयों से बहार निकाल के तो देखो। मन के द्वबार् खोल के देखो । इन आसमानों में बहुत से रंग है । कभी मन की आखो से देखो ।

जिन्दा हो तुम 

दिलो में तुम अपनी बेताबिया लेकर  चल रहे हो तो जिन्दा हो तुम ।। नजरो में खाव्वो की विजलिया ले कर  चल रहे  हो तो जिन्दा हो तुम ।। हवाओँ की झोको की तरह आजाद  होकर रहना सीखो जिना सीखो । तुम एक दरिया जेसे लहरो में बहना सीखो। हर एक लम्हे से तुम मिलो… Continue reading जिन्दा हो तुम